आपने अपने मित्र के साथ ग्रीष्मावकाश को कैसे बिताया, इस बात को बताते हुए अपनी माँ को पत्र लिखिए।

अनौपचारिक पत्र

ग्रीष्मावकाश पत्र बिताने पर माँ को पत्र

 

दिनांक : 10 मई 2024

 

आदरणीय माँ चरण स्पर्श माँ, मैं यहाँ अपने दोस्त के घर पर ठीक प्रकार से हूँ। मेरी गर्मी की छुट्टियां मजे में बीतीं। दो दिन बाद मैं वापस घर आ जाऊंगा। मैंने सोचा उससे पहले आप को पत्र लिख दूं और सारी बातें बताऊं। माँ, अपने दोस्त मयंक के घर में रहकर मुझे बहुत मजा आया। उसका घर एक छोटे से फूलपुर कस्बे में है।

फूलपुर कस्बा बेहद शांत कस्बा है। यहाँ पर बहुत अधिक हरियाली है। यहाँ के लोग भी बेहद सीधे-सादे और मिलनसार हैं। मेरे दोस्त का मकान भी बहुत अधिक बड़ा है। उसके मकान में एक शानदार बगीचा भी है, जहाँ तरह-तरह के फल-फूल के पड़े थे। मेरे दोस्त के पिता का एक खेत है, जहां पर हम लोग रोज जाते थे। हम लोग रोज सुबह नाश्ता करके खेतों की ओर चले जाया करते थे और खेतों पर खूब मस्ती करते थे।

दोपहर को हम लोग घर आते तो मेरे दोस्त की माँ मुझे अच्छा खाना खिलाती। मेरे दोस्त के परिवार वालों ने मेरा बहुत अधिक ध्यान रखा। छुट्टियों के यह 10 दिन कब बीत गए पता ही नहीं चला। मैं कस्बे मैं खूब घूमा। हम लोग एक दिन कस्बे के बाहर स्थित छोटे से जंगल में पिकनिक मनाने भी गए थे। यहाँ का मौसम अच्छा था और बहुत अधिक गर्मी नहीं थी। इसी कारण हमें कोई परेशानी नहीं हुई।

परसों सुबह की बस से मैं वापस घर आ जाऊंगा फिर आपको सारे फोटो भी दिखाऊंगा।

आपका बेटा,
सुनील


Related questions

अपने गाँव में डॉ. भीमराव अम्बेडकर पार्क की स्थापना के लिए जिला अधिकारी को पत्र लिखिए l

आने वाली वार्षिक परीक्षा की तैयारी के लिए अपनी छोटी बहन को प्रेरक पत्र लिखिए​।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *