दादा जी के जन्मदिन का वर्णन करते हुए डायरी लेखन करिए।

डायरी लेखन

 

दिनांक 10-3-2024,
समय 9:30 रात्रि,

प्रिय डायरी, मैंने आज अपने दादा जी के जन्मदिन पर उनके कमरे को इतने खूबसूरत तरीके से सजाया कि घर के सभी सदस्य उसे देखकर आश्चर्यचकित हो गए थे। ये सब मैंने और मेरी बहनों ने मिलकर किया था । हमने व्हाइट फारेस्ट चॉकलेट वाला केक, जो दादा जी का सबसे पसंदीदा केक है, मँगवाया और उसे मोमबत्तियों से अच्छी तरह सजाया ।

इसके बाद हम दादा जी की आँखों पर पट्टी बांध कर उन्हें मे लेकर आए, उन्होंने कमरे को चारों तरफ देखा और वहाँ की सजावट को देखकर उनकी आँखों में आँसू आ गए। फिर हमने केक को मोमबत्तियों से सजाया और दादा जी ने केक पर लगी मोमबत्तियों को फूंक मार कर बुझाया और हैप्पी बर्थडे गीत के साथ केक को काटा।

इसके बाद घर के सभी सदस्यों ने उन्हें शुभकामनाएं दी और खूब सारे उपहार भी दिए। मेरी माँ ने जन्मदिन की पार्टी में उपस्थित सभी लोगों को केक और नाश्ता खाने को दिया। हमने जन्मदिन पर खेले जाने वाले विभिन्न खेलों और पहेलियों की योजना बनाई थी।

हम सभी ने मिलकर म्यूजिकल चेयर का आनंद लिया, पार्सल गेम खेला, और हमारी पहेली वाली गेम सबसे दिलचस्प रही । पहेली के हर पहलू को सुलझाने के बाद एक उपहार भी दिया गया। हमने खूब मज़े किए और अलग-अलग गानों पर डांस भी किया। हम सभी ने बहुत मस्ती की। सच में आज का दिन बहुत यादगार रहा। दादाजी के चेहरे की तो खुशी देखते ही बनती थी। उनके खुशी देखकर हमें सच में मजा आ गया।

सुमित


Other question

यात्रा के अनुभव तथा रोमांच का वर्णन करते हुए एक प्रस्ताव लिखिए।

स्वयं को सरदार शहर निवासी ‘दिनकर’ मानते हुए शैक्षिक भ्रमण का वर्णन करते हुए अपने मित्र को पत्र लिखें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *