बड़े-बड़े मोती से आँसू में कौन सा अलंकार है?

काव्य पंक्ति : ‘बड़े-बड़े मोती से आँसू’

अलंकार : उपमा अलंकार

स्पष्टीकरण :

‘बड़े-बड़े मोती से आँसू’ इस पंक्ति में ‘उपमा अलंकार’ है।

इस काव्य पंक्ति में ‘उपमा अलंकार’ इसलिए है, क्योंकि यहां पर जो अलग-अलग तत्वों की उनके गुण, स्वभाव के अनुसार तुलना की गई है और उनमें समानता प्रदर्शित की गई है।

इस काव्य पंक्ति में ‘आँसुओं’ की तुलना ‘मोतियों’ से की गई है। यहाँ पर ‘मोती’ उपमेय है और ‘आँसू’ उपमान हैं। इस कारण यहां पर उपमा अलंकार है।उपमा अलंकार की परिभाषा के अनुसार जब किन्हीं दो वस्तु अथवा पदार्थ अथवा व्यक्ति के बीच उनके गुण, आकृति और स्वभाव के अनुसार बिल्कुल समानता दर्शाई जाए अर्थात उपमेय और उपमान के बीच के भेद को मिटा दिया जाए तो वहां पर ‘उपमा अलंकार’ प्रकट होता है।

उपमा अलंकार में दो अलग-अलग तत्वों (वस्तु, पदार्थ, व्यक्ति आदि) की आपस में तुलना की जाती है और उनके बीच के भेद को मिटा दिया जाता है।

उपमा अलंकार के चार अंग होते हैं :

  • उपमेय
  • उपमान
  • वाचक शब्द
  • सामान्य गुणधर्म

उपमा अलंकार के दो उपभेद भी होते हैं :

  • पूर्णोपमा
  • लुप्तोपमा

Related questions

‘गिरी का गौरव गाकर झर-झर’ इस पंक्ति में कौन सा अलंकार है?

शारंगदेव के ‘संगीत रत्नाकर’ में कितने अलंकार बताये हैं ?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *