“करो योग-रहो निरोग” जीवन में योग का महत्व बताते हुए एक अनुच्छेद लिखिए​।

अनुच्छेद

करो योग-रहो निरोग

योग के महत्व से अब कौन अपरिचित है। आज हम सब योग के महत्व को जानते हैं। हमारे भारत की प्राचीन पद्धति योग अब पूरे विश्व में अपना परचम लहरा रही है। योग के महत्व को आज संसार के सभी लोग समझ चुके हैं, इसीलिए यूं हर देश में लोकप्रिय होता जा रहा है। योग केवल व्यायाम ही नहीं बल्कि यह एक जीवन पद्धति है जो हमारे शरीर को निरोगी बनाने के लिए सर्वश्रेष्ठ पद्धति है।

यदि योग को हम अपने जीवन की नियमित आदत बना लें तो कोई भी दो हमारे शरीर को छू नहीं सकता। योगी रहकर निरोगी बन जाने का मूल मंत्र हमारे पूर्वजों ने हमें दिया। लोगों को अपनाकर हम निरोग रहने का वरदान पा सकते हैं। जोगना केवल हमारे तन को स्वस्थ रखता है बल्कि हमारे मन को भी स्वस्थ रखता है। यह केवल तन का व्यायाम नहीं बल्कि मन का भी व्यायाम है। जो भी केवल व्यायाम तक सीमित नहीं बल्कि यह पूरी जीवन शैली है। योग के अनेक अंग होते हैं जो योग को विविधता प्रदान करते हैं, इसलिए योग को अपनाकर हम निरोग होने का वरदान पा सकते हैं इस बात में जरा भी संदेह नहीं होना चाहिए।

 

 

Related questions

‘नारी के बढ़ते कदम​’ पर अनुच्छेद लेखन करिए।

हॉस्टल का जीवन पर अनुच्छेद लिखें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *