‘दमा’ का विशेषण क्या होगा ?

दमा का विशेषण इस प्रकार है :

शब्द : दमा
विशेषण : दमित
विशेषण का भेद : गुणवाचक विशेषण

‘दमा’ का विशेषण ‘दमित’ होगा और यह ‘गुणवाचक विशेषण’ है।

 

गुणवाचक विशेषण की परिभाषा

किसी भी व्यक्ति, वस्तु, स्थान के गुण, दोष, रंग, स्वाद, रूप, आकार, स्पर्श, स्थान, काल आदि का बोध कराने शब्द ‘गुणवाचक विशेषण’ कहलाते हैं।

नोट – दमा एक बीमारी है। इस कारण यह एक दोष है और इस कारण यह गुणवाचक विशेषण है।

विशेषण की परिभाषा :

जो शब्द संज्ञा और सर्वनाम की विशेषता बताते हैं उन शब्दों को ‘विशेषण’ कहते हैं।

उदाहरण के तौर पर…

काली गाय हरी घास चर रही है ।

मोटा लड़का धीरे–धीरे चल रहा है।

सफेद घोडा तेज़ दौड़ता है।

उपरोक्त बोल्ड शब्द (काली, हरी, मोटा, सफेद) यह विशेषण शब्द है क्यूंकि ये शब्द संज्ञा शब्दों (गाय, मोटा, सफेद) की विशेषता बता रहे हैं।

विशेषण के चार भेद होते हैं :

1. गुणवाचक विशेषण
2. संख्यावाचक विशेषण
3. परिमाणवाचक विशेषण
4. संकेतवाचक विशेषण
5. सार्वनामिक विशेषण


Other questions

‘शिमला’ में कौन सा समास है? बताएं।

रामू नारियल के पेड़ पर चढ़ा कौन सा कारक चिन्ह है​?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *