विधायक कौन होता है? विधायक की भूमिका क्या होती है?

विधायक किसी राज्य के विधानमंडल का सदस्य होता है, जो उस राज्य में अपने संबंधित निर्वाचन क्षेत्र का प्रतिनिधित्व करता है। विधायक को संक्षेप में ‘एम एल ए’ कहा जाता है। जिसका पूर्ण रूप है, ‘मेंबर और लेजिस्लेटिव एसेंबली’ (Member of Legislative Assembly)

विधायक के अधिकार क्षेत्र में एक क्षेत्र आता है, जिसे विधानसभा क्षेत्र कहा जाता है। वह विधानसभा किसी जिले का छोटा सा भाग होता है। विधायक उसी क्षेत्र के प्रतिनिधि के रूप में विधानमंडल में अपने क्षेत्र का प्रतिनिधित्व करता है। विधायक को अपने क्षेत्र का प्रतिनिधित्व करने के लिए चुनावी प्रक्रिया से गुजरना पड़ता है। एक विधायक बनने के लिए किसी व्यक्ति को चुनाव लड़ना पड़ता है। वह जनता द्वारा चुनाव प्रक्रिया के अंतर्गत चुना जाता है और उसके बाद वह अपने राज्य के विधान मंडल में अपने क्षेत्र का प्रतिनिधित्व करने का अधिकार प्राप्त कर लेता है।

विधायक का कार्य

एक विधायक का मुख्य कार्य अपने क्षेत्र से संबंधित समस्याओं को सुलझाना, अपने क्षेत्र के विकास के लिए कार्य करना, अपने विधानसभा क्षेत्र से संबंधित समस्याओं को विधानमंडल में मुख्यमंत्री तथा मंत्रिमंडल के सामने प्रस्तुत करना होता है। एक विधायक विधानसभा क्षेत्र में हो रहे विकास कार्यों के लिए उत्तरदायी होता है। एक विधायक अपने विधानसभा क्षेत्र का प्रतिनिधि होता है, इसलिए उस क्षेत्र की जो भी जन समस्याएं हैं, उन्हें जनता से सुनना और उन्हें सुलझाना विधायक का कार्य होता है। विधायक भारत की त्रिस्तरीय शासन व्यवस्था के दूसरे स्तर यानि राज्य स्तर के सदन विधानसभा का महत्वपूर्ण सदस्य होता है।


Other questions

विग्रह और विनोद से क्या अभिप्राय है?

लोकतंत्र का अभिजनवादी सिद्धांत यानि विशिष्ट वर्गीय सिद्धांत के बारे में बताएं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *