15 अगस्त को झंडा फहराने से नागरिकों पर क्या प्रभाव पड़ता है​?

15 अगस्त को झंडा फहराने से नागरिकों पर सकारात्मक प्रभाव पड़ता है। झंडा भारत की पहचान का प्रतीक है। हर देश का अपना एक राष्ट्रीय ध्वज होता है, जो उस देश का प्रतिनिधित्व करता है। झंडा किसी एक व्यक्ति का नहीं होता बल्कि यह हर भारतवासी का होता है। यह हर भारतवासी का प्रतिनिधित्व करता है। इस पर हर भारतवासी का अधिकार है।

जब 15 अगस्त अथवा 26 जनवरी अथवा अन्य किसी सार्वजनिक उत्सव के अवसर पर नागरिक झंडा फहराते हैं, तो नागरिकों के मन में देशभक्ति की भावना प्रबल होती है। ऐसे शुभ अवसरों पर राष्ट्रीय ध्वज फैलाने से नागरिकों को अपने देश के प्रति देशभक्ति प्रदर्शित करने का अवसर मिलता है। राष्ट्रीय झंडा फहराना देश के प्रति अपना सम्मान प्रकट करने का एक अवसर है। इसके अलावा यह राष्ट्रीय गौरव का भी प्रतीक है। जब कोई नागरिक राष्ट्रीय झंडा फहराना है तो ये बात उसके अंदर गर्व की भावना भर देता है।

निष्कर्ष : इसलिए 15 अगस्त को झंडा फहराने से नागरिकों पर एकदम सकारात्मक प्रभाव पड़ता है और उनके मन में अपने देशभक्ति की भावना अधिक प्रबल होती है।


Other questions

अगीत से कवि का आशय क्या है? क्या वह महत्वपूर्ण हैं ? कैसे? ​(गीत-अगीत)

अगर कंकड़ नदी में ही पड़ा रहता, तो अंत में वह क्या बन जाता ?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *