तुम अपने देश की सेवा कैसे करोगे ?​अपने विचार लिखो।

अपने देश की सेवा करने के लिए कई तरह के तरीके हैं। अपने देश की सेवा करने के लिए सबसे पहले हमें एक आदर्श नागरिक बनना होगा। हमें देश के संविधान द्वारा बनाए गए नियमों और कानून का पालन करना होगा। एक आदर्श नागरिक की सच्चे अर्थों में अपने देश की सेवा कर सकता है।

मैं अपने देश की सेवा करने के लिए सबसे पहले मैं एक आदर्श नागरिक बनने की कोशिश करूंगा।

मैं अपने देश की सेवा करने के लिए कोई ऐसा क्षेत्र चुनूंगा जिसमें अपने कार्यों द्वारा अपना देकर मैं अपने देश की सेवा कर सकता हूँ।

मैं एक अच्छा डॉक्टर बन कर अपने देश की सेवा कर सकता हूँ। मैं ऐसा डॉक्टर बन सकता हूँ जो सेवा भाव से लोगों का उपचार करे। जो गरीब हैं अगर उनके पास उपचार कराने के पैसे नही है तो उनका निःशुल्क या कम पैसों में उपचार करे। दूर-दराज के ग्रामीण क्षेत्रों में अपनी सेवा दे जहाँ पर डॉक्टरों की कमी है। ये देश सेवा करने का अच्छा विकल्प है।

मैं अपने देश की सेवा एक अच्छा वैज्ञानिक बनकर भी कर सकता हूँ। आज का युग विज्ञान और तकनीक का युग है। विज्ञान के क्षेत्र में नई-नई खोजने को करके मैं अपने देश का नाम रोशन कर सकता हूँ।

मैं अपने देश की सेवा एक अधिकारी बनकर भी कर सकता हूँ। प्रशासनिक सेवा में जाकर में जन सेवा के माध्यम से अपनी देश की सेवा कर सकता हूँ।

हमारे देश की राजनीति के बेहद गंदी हो चली है, इसलिए सब राजनीति से दूर रहना चाहते हैं। लेकिन हमें अपने देश की राजनीति को स्वच्छ करने की जरूरत है, इसलिए मैं एक अच्छी छवि वाला नेता बनकर भी अपने देश की सेवा कर सकता हूँ।

इसी तरह जीवन के अनेक क्षेत्र हैं, जहाँ पर मैं अपनी प्रतिभा के अनुसार अपना योगदान देकर अपने देश की सेवा कर सकता हूँ। इसलिए देश की सेवा करने अनेक विकल्प हैं। हम अपनी योग्यता और प्रतिभा के अनुसार किसी एक विकल्प तथा चयन कर उसमें अपने कार्य द्वारा अपने योगदान देकर अपने देश की सेवा कर सकते हैं।

लेकिन हमें सबसे देश एक आदर्श और जागरूक नागरिक बनना होगा। हमें कोई भी  ऐसा कार्य करने से बचना होगा जिससे देश की छवि को नुकसान हो, देश को किसी भी तरह का हानि।

हमें हर तरह के भ्रष्टाचार से बचना होगा और देश के संविधान का पालन करना होगा। एक आदर्श नागरिक बनकर और अपने कार्य-व्यवसाय के प्रति ईमादार रहकर भी हम अपने देश की सेवा कर सकते हैं।


Related questions…

एक देश की धरती दूसरे देश को सुगंध भेजती है, कथन का भाव स्पष्ट कीजिए।

‘नेताजी का चश्मा’ कहानी के अनुसार देश के निर्माण मे बड़े ही नहीं बच्चे भी शामिल हैं। आप देश के नव निर्माण मे किस प्रकार योगदान देंगे?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *