‘बाबू गुलाब राय’ की रचना ‘मेरी असफलताएं’ किस विधा की रचना है?

‘मेरी असफलताएं’ ‘बाबू गुलाब राय’ द्वारा रचित निबंध विधा की रचना है।

‘मेरी असफलताएं’ बाबू गुलाब राय द्वारा रचित एक निबंध संग्रह है। इस निबंध संग्रह का प्रकाशन 1946 में हुआ था। इस निबंध संग्रह  का प्रकाशन पुस्तक रूप में 1946 में हुआ था। इस पुस्तक के माध्यम से बाबू गुलाब राय ने अपने जीवन में आने वाली असफलताओं का विवेचन प्रस्तुत किया है।

बाबू गुलाब राय हिंदी साहित्य के एक प्रसिद्ध साहित्यकार थे। जो अपने निबंधों की रचना के लिए जाने जाते हैं। वह हिंदी के प्रमुख आलोचक और निबंधकार थे। उनका जन्म 17 जनवरी 1888 को उत्तर प्रदेश के इटावा शहर में हुआ था। 13 अप्रैल 1963 को उनका निधन हुआ।

उन्होंने 1913 से लेकर 1953 तक अनेक साहित्यिक कृतियों की रचना की। जिनमे में अधिकतर निबंध थे। उसके अलावा उन्होंने बाल साहित्य तथा दर्शन संबंधी रचनाएं भी कीं। उन्होंने कई ग्रंथों का संपादन भी किया है।

मेरी असफलताएं के अलावा उनके द्वारा रचित कई निबंधों में प्रकार प्रभाकर, जीवन पशु, ठलुआ क्लब, मेरे मानसिक उपादान आदि के नाम प्रमुख हैं।

विज्ञान वार्ता और बाल प्रमोद उनकी प्रमुख बाल साहित्य की रचनाएं हैं।

उन्होंने सत्य हरिश्चंद्र, भाषा भूषण, कादंबरी कथासार आदि ग्रंथों का संपादन भी किया है। इसके अलावा उनके द्वारा रचित आलोचनात्मक रचनाओं में नवरस, हिंदी साहित्य का सुबोध इतिहास, हिंदी नाट्य विमर्श, आलोचना, कुसुमांजलि, काव्य के रूप सिद्धांत और अध्ययन आदि के नाम प्रमुख हैं।


ये भी जानें…

‘जो किसी से न डरे’ अनेक शब्दों के लिए एक शब्द।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *