निमंत्रण मिलने पर अपने मित्र के घर जाने पर वहाँ मिले आदर-सत्कार की खुशी जाहिर करते हुए एक पत्र लिखिए।

अनौपचारिक पत्र

आदर सत्कार मिलने पर मित्र को पत्र

 

दिनांक : 9 नवंबर  2023

 

प्रिय मित्र अनुभव,

तुम कैसे हो? मैं घर पर सकुशल पहुँच गया हूँ। लेकिन मेरे मन में अभी भी तुम्हारे घर में मिले सम्मान और अतिथि सत्कार की स्मृतिया बसी हुई हैं।

मित्र, तीन दिनों पहले मैं तुम्हारे घर तुम्हारे निमंत्रण पर आया था। तीन दिन में तुम्हारे घर पर रहा। तुम्हारे घर में मुझे जो प्यार और सम्मान मिला। तुम्हारे परिवार जन मेरा जो आदत सत्कार किया उससे मैं अभिभूत हो गया हूँ। इतना प्रेम सम्मान और आदर सत्कार प्रकार मुझे बहुत अच्छा लगा। तुम्हारे घर के सभी सदस्य बेहद विनम्र और मधुर स्वभाव के हैं।

तुम्हारे माता-पिता से बात करके मुझे बहुत अच्छा लगा। तुम्हारे माता-पिता और अपने माता-पिता में मुझे जरा भी अंतर नहीं लगा। उन्होंने मेरे सात बिल्कुल ऐसा व्यवहार कियास जैसे वह तुम्हारे साथ करते हैं यानी मुझे उन्होंने अपने पुत्र के समान ही व्यवहार किया। मुझे नहीं लग रहा था कि मैं किसी दूसरे के माता-पिता से बात कर रहा हूँ। उनका व्यवहार देखकर मुझे लग रहा कि मैं अपने माता-पिता से ही बात कर रहा हूँ।

तुम्हारी बड़ी बहन ने भी मुझे बिल्कुल छोटे भाई की तरह स्नेह किया और तुम्हारी छोटी बहन ने भी मुझे पूरा सम्मान दिया। तुम्हारे घर में मुझे जरा भी परायापन पर नहीं लगा। मुझे लगा कि मैं अपने ही घर में हूँ। तुम्हारे घर में यह आदर-सत्कार प्रकार मुझे बहुत अच्छा लगा। मैं तुम्हारे तथा तुम्हारे घर के सभी सदस्यों के प्रति आभार व्यक्त करता हूं और उन्हें धन्यवाद करना चाहता हूँ।

मैं चाहता हूँ तुम अपने माता-पिता और दोनों बहनों के साथ अगले रविवार को मेरे घर आओ। मैंने अपने माता-पिता को तुम्हारे बारे में सब कुछ बताया, वह भी तुम्हारे माता-पिता से मिलने के लिए उत्सुक हैं। रविवार को मैं सपरिवार तुम्हारे आने का इंतजार करूंगा।

तुम्हारा मित्र,
रमन ओझा ।


Related questions

दुर्घटनाग्रस्त मित्र को 100 से 120 शब्दों मे सांत्वना देते हुए पत्र लिखिए ।

अपने छोटे भाई को पत्र लिखिए कि वह अपने स्कूल में सदा उपस्थित रहे और परीक्षा की भली-भाँति तैयारी करे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *