पेन और कॉपी के बीच हुए एक काल्पनिक संवाद को लिखें।

संवाद लेखन

पेन और कॉपी का संवाद

 

पेन ⦂ कॉपी ! क्या मेरा तुम पर घिसे जाना तुम्हें अच्छा लगता है।

कॉपी ⦂ पेन ! जब तुम्हारे द्वारा छात्र मुझ पर सुंदर-सुंदर शब्द लिखते हैं तो मुझे बहुत खुशी होती है।

पेन ⦂ कॉपी ! मैं इतना छोटा हूँ और तुम इतनी बड़ी हो फिर भी मैं तुम्हें रंग देता हूँ।

कॉपी ⦂ तुम्हारे रंगने से ही मेरी शोभा बढ़ती है। मैं लोगों के लिए अधिक उपयोगी हो जाती हूँ। मैं तुम्हारी आभारी हूँ।

पेन ⦂ ऐसा मत बोलो, तुम्हारे बिना मेरी भी कोई वजूद नहीं है।

कॉपी ⦂ पेन ! पर मुझे तुमसे सिर्फ एक ही शिकायत है।

पेन ⦂ वह क्या है ? मुझे बताओ मैं उसे दूर करने की पूरी कोशिश करूंगा।

कॉपी ⦂ मुझे तो तुम पर गर्व है क्योंकि तुम्हारे बिना मेरा होना ही अधूरा है। तुम्हारे बिना मेरी कोई उपयोगिता नहीं है।

पेन ⦂ कॉपी ! तुम मुझे बहुत मान दे रही हो। सच पूछो तो हम दोनों एक दूसरे के बिना अधूरे हैं।

कॉपी ⦂ कभी-कभी तुम बहुत गंदा लेख लिखते हो जिससे मेरा आकर्षण खत्म हो जाता है।

पेन ⦂ अच्छा , मैं आगे से इस ध्यान रखूंगा और नियमित सुलेख द्वारा अपना लेख सुधारने का प्रयास करूंगा।


Related questions

ग्रीष्मावकाश गंगा के किनारे बिताने के संबंध में दो मित्रों के मध्य संवाद लिखिए।

बढ़ते हुए प्रदूषण पर क्या सावधानी की जाए। इस विषय पर माँ और बेटे के जो चर्चा हुई, उस पर संवाद लिखिए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *