दशहरे का वर्णन करते हुए अपने मित्र को पत्र लिखिए।

अनौपचारिक पत्र

दशहरे का वर्णन करते हुए मित्र को पत्र

 

मकान नंबर 10,
देव नगर,
शिमला,
हिमाचल प्रदेश- 171001,

दिनांक 25-10-2023,

 

प्रिय मित्र कमल,
स्नेह!

आशा करता हूँ कि तुम्हारा परिवार भी कुशलता से होगा। हम सब भी यहाँ पर बिल्कुल कुशलता से हैं।

मित्र, कल दशहरा हमने बड़ी ही धूम-धाम से मनाया लेकिन तुम्हारी बहुत याद आई क्योंकि पिछले वर्ष तुम इस दिन हमारे साथ थे। लेकिन आशा करता हूँ कि अगले वर्ष हम दशहरे पर साथ होंगे।

इस बार पिता जी हमें दशहरा मेला दिखाने ले गए और हमने वहाँ पर रावण, मेघनाथ और कुंभकर्ण का दहन होते हुए देखा और उसके बाद हम ने  मेले में कई तरह के झूला-झूले तथा मिठाइयाँ भी खाई। मैंने वहाँ से अपने लिए और तुम्हारे लिए त्रिशूल तथा धनुष बाण भी खरीदे हैं। मैंने तुम्हारे छोटे भाई के लिए गदा भी खरीदी। उसे बता देना वह खुश हो जाएगा।

मित्र काश! तुम भी यहाँ पर हमारे साथ होते तो बहुत मज़ा आता। आशा है कि तुमने भी खूब मज़े किए होंगे। अपने माता–पिता को मेरी तरफ से चरण वंदना कहना।

तुम्हारा मित्र,
राहुल ।


Related questions

आपकी बहन आई. ए. एस. की तैयारी शुरू कर रही है। शुभकामनाएँ देते हुए पत्र लिखें।

माताजी की बीमारी से पीड़ित मित्र को धीरज बंधाते हुए पत्र लिखिए। अधीर होने से समस्या घटती नहीं बढ़ती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *