कलिंग युद्ध के प्रभावों का वर्णन कीजिए।

कलिंग युद्ध साम्राज्य के सम्राट अशोक तथा कलिंग राज्य के राजा के बीच लड़ा गया था। ये युद्ध  262 से 261 ईसा पूर्व लड़ा गया था।

इस युद्ध के अनेक प्रभाव रहे, जो इस प्रकार हैं..

  • कलिंग के युद्ध में मगध साम्राज्य के सम्राट अशोक को विजय प्राप्त हुई और कलिंग राज्य के लाखों सैनिक इस युद्ध में मारे गए।
  • कलिंगा राज्य का विलय मगध साम्राज्य में हो गया। इस तरह पूरे भारतवर्ष में केवल कलिंग राज्य ऐसा था जो मगध साम्राज्य में नहीं था, वह भी मगध साम्राज्य के साथ विलय हो गया।
  • कलिंग युग के हुए भीषण नरसंहार के कारण ही अशोक का हृदय परिवर्तन हुआ और उसने हिंसा का रास्ता छोड़कर अहिंसा को अपना लिया।
  • कलिंग युद्ध के बाद ही अशोक ने बौद्ध धर्म को ग्रहण कर लिया और बौद्ध धर्म के प्रचार प्रसार में स्वयं को पूरी तरह लगा दिया।
  • कलिंग युद्ध के प्रभाव के कारण ही अशोक ने ‘भेरी घोष’ के स्थान पर ‘धम्म घोष’ की नीति अपनाई, जिसमें युद्ध की जगह धर्म के प्रचार-प्रसार को अधिक महत्ता दी गई।

Related questions

धर्म प्रवर्तक से आप क्या समझते हैं?

स्तंभ लेख से क्या तात्पर्य है?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *